इस सरकारी अस्पताल में होने वाली हैं नर्सों की बंपर भर्तियां, आज ही तैयार कर लें आवेदन

भोपाल| प्रदेश के जिला अस्पतालों में मरीजों की देखरेख में जल्द सुधार होने की संभावना है। हर अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ बढ़ाया जा रहा है। प्रदेश के अस्पतालों में नियुक्ति के लिए 2730 स्टाफ नर्सों की भर्ती की जाएगी। जिला अस्पतालों में 38-38 स्टाफ नर्स की नियुक्ति की जाएगी।

राज्य शासन ने स्टाफ नर्स के 1938 नए पदों की स्वीकृति दे दी है। इनमें से 10 फीसदी मेल नर्स होंगे और अन्य महिला स्टाफ नर्स होंगी। साथ ही नर्सिंग स्टाफ की मॉनीटरिंग बढ़ाने हर संभाग में एक नर्सिंग उपसंचालक की नियुक्ति की जाएगी। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने नए पदों की स्वीकृति जारी कर दी है। विभाग के सचिव कवीन्द्र कियावत ने मंगलवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। सभी 51 जिला अस्पतालों के लिए स्टाफ नर्स के 4 हजार 880 पद स्वीकृत थे। इनकी संख्या बढ़कर 6 हजार 818 हो गई है। टीबी अस्पतालों में भी नर्सिंग स्टाफ की संख्या बढ़ाई गई है। टीबी अस्पतालों में अलग से 152 नर्सों की नियुक्तियां होंगी। इससे वहां मरीजों की केयर अच्छी तरह से हो सकेगी।

तहसीलों में 800 डाटा ऑपरेटरों की होगी भर्ती

भोपाल. राजधानी ही नहीं प्रदेश की तहसीलों में डाटा एंट्री ऑपरेटरों की कमी चल रही है। इससे काम समय पर नहीं हो पा रहा है। भोपाल संभाग की समीक्षा बैठक में मामला सीएस के सामने आया तो उन्होंने जिलों के कलेक्टर्स को डाटा एंट्री ऑपरेटरों की भर्ती करने के अधिकार दे दिए हैं। कलेक्टर्स अपने स्तर पर विज्ञापन प्रकाशित कर भर्ती कर सकेंगे। भर्ती के लिए अच्छे इंस्ट्ीट्यूट से डिप्लोमा की शर्त भी रखी गई है। अभी कुछ तहसीलों में प्राइवेट व्यक्तियों को लगाकर डाटा एंट्री का काम करवाया जा रहा है। पहले चरण में 800 डाटा ऑपरेटरों की भर्ती की जाएगी।

4880 जिला अस्पतालों में कुल स्टाफ नर्स

1938 जिला अस्पतालों के लिए स्वीकृत नए पद

667 इनमें मेल स्टाफ नर्स

1271 महिला स्टाफ नर्स

6818 जिला अस्पतालों में अब कुल स्टाफ नर्स

268 सीएचसी के लिए स्वीकृत नए पद

524 पीएचसी के लिए स्वीकृत नए पद

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का मप्र के सीएम ने किया स्वागत

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज‍ सिंह चौहान ने तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा‍ दिए ...

error: Content is protected !!